भिंडी के अद्भुत गुण जो शायद आप नही जानते (ladyfingers amazing benefits) - Healthy India — With Ayurvedic Care

Latest

Tuesday, March 10, 2020

भिंडी के अद्भुत गुण जो शायद आप नही जानते (ladyfingers amazing benefits)

तो दोस्तो वेसे तो भिंडी हमारे घर मे प्रमुखता से बनने वाली सब्ज़ी है किंतु भिंडी हमारी सेहत के लिए काफी लाभदायक है आप इसे केवल साधारण सब्ज़ी न समझे बल्कि भिंडी की खूबियों को जाने और नियमित रूप से भिंडी को अपने भोजन में शामिल करें।
Ladyfingers recipe

भिंडी में न्यूट्रिशन(ladyfinger nutrition)

दोस्तो भिंडी में प्रोटीन(protein), वासा (fat), रेशा, carbohydrates  कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन और कॉपर भरपूर मात्रा में होता है। इसीलिए भिंडी को बहुत पौष्टिक सब्ज़ी माना जाता है।

भिंडी की रेसिपी (ladyfingers recipe)

भिंडी में कई प्रकार की रेसिपी जैसे सब्ज़ी, रायता, सूप, कढ़ी आदि बनाई जाती हैं। भिंडी से निकलने वाला रेशेदार पदार्थ कई प्रकार के रोगों को ठीक करने में सहायक होता है।

भिंडी खाने के लाभ (benefits of ladyfingers)

भिंडी खाने से इंसान की भूख बढ़ती है यदि आपको कम भुख लगती है तो आप भिंडी का सेवन करें ।

मधुमेह(sugar) के रोगियों के लिए भिंडी बहुत ही फ़ायदेमंद है, क्योंकि भिंडी में fiver भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो कि मधुमेह को नियंत्रित रखने में बहुत ही उपयोगी है। भिंडी खून में पहले से मौजूद sugar को सोख लेती है और blood sugar के स्तर को सामान्य बनाये रखने में मदद करती है।

शरीर मे cholesterol के स्तर को बनाये रखने में भी भिंडी बहुत मददगार होती है, इससे sugar का स्तर ठीक होता है और कई बार तो sugar दूर ही हो जाती है।

भिंडी पेट के लिए वरदान है :- भिंडी पेट के लिए किसी वरदान से कम नही है, भिंडी हमारी आंतों के लिए फिल्टर का काम करती है। भिंडी पेट के पित्त अम्ल और cholesterol को बांध देती है जिससे आंत को नुकसान नही पहुँचता। भिंडी आंतों की खराश को भी दूर करती है, इसीलिए पेचिश या gas की समस्या में भी भिंडी काम आती है।

भिंडी शरीर मे acid को भी बेअसर बनाती है और पाचन तन्त्र के कवच के रूप में सुरक्षा प्रदान करती है।

प्रोबायोटिक बनाती है (Probiotics)

भिंडी हमारे शरीर मे पाए जाने वाले अच्छे बेक्टिरिया को मजबूत करती है इसके साथ ही शरीर मे प्रोबायोटिकस के विकास में मदद करती है । जिससे हमारा immune system मज़बूत होता है और पाचन तंत्र बेहतर बनता है।

मूत्र की जलन समाप्त करती है (Urinary irritation)


भिंडी पेशाब में होने वाली जलन को दूर करती है भिंडी खाने से पेशाब खुलकर आता है। इसीलिए यदि आपको पेशाब के दौरान जलन होती है तो आपको अवश्य ही भिंडी का सेवन करना चाहिए ।

कमज़ोरी या थकावट में (Weakness or tiredness)

जिन लोगो को अपने शरीर मे काफी ज्यादा थकावट या कमज़ोरी महसूस होती है भिंडी उन लोगो के शरीर मे ऊर्जा की दवा की तरह काम करती है। और शरीर से कमज़ोरी और थकावट को दूर करती है। डॉक्टर को आयुर्वेद की माने तो बिंदी depression के शिकार हो चुके लोगों में भी काफी हद्द तक फायदेमंद साबित होती है।

जोड़ो के दर्द में (joints pain)

भिंडी में पाए जाने वाला लसलसा पदार्थ हमारी हड्डियों के लिए बहुत ही उपयोगी होता है , इसके अलावा भिंडी में कैल्सियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है जो कि हड्डियों को मजबूत बनाने में लाभकारी होती है। यह जोड़ो में लचीलापन लाती है और दर्द को कम करने में सहायता देती है।

अस्थमा के रोगियों के लिए (asthama)

भिंडी अस्थमा के रोगियों के लिए एक बहुत ही गुणकारी सब्ज़ी है । भिंडी में पाए जाने वाला vitamin c अस्थमा के लक्षण को पनपने से रोकता है इसके अलावा भिंडी फेफड़ो में सूजन और गले मे खराश (strep throat) को कम करती है।

कमज़ोर आँखे (weak eyes)

भिंडी में vitamin a की अच्छी मात्रा होती है जो आंखों के लिए बहुत उपयोगी साबित होती है। जिन लोगो की आंखे कमज़ोर हैं डॉक्टर उनको अक्सर भिंडी खाने की सलाह देते हैं। क्योंकि भिंडी खाने से आंखों की रोशनी तो ठीक होती ही है और जो मितियाबिंद जैसी समस्याएं हैं वो भी ठीक होने लगती हैं।

दोस्तो आशा है आपको आज हमारे इस post के ज़रिए भिंडी के कुछ अद्भुत गुणों का रहस्य पता चला होगा। आप इस post को अपने दोस्तों और family members के साथ share करें ताकि उनको भी इसके लाभ पता चल सकें और वह लोग भी इसका उपयोग करें।

No comments:

Post a Comment